facebook twitter Google+ Google+

Latest Articles

  • नास्तिक व् आस्तिक दोनों ही ईश्वर में प्रबल विश्वासकर्ता है ।
    Written by
    नास्तिक व् आस्तिक दोनों ही ईश्वर में प्रबल विश्वासकर्ता है । वह प्रत्येक मानव जो ईश्वर सत्ता को मानता है , उसमे विश्वास व् भक्ति रखता है हम उसे आस्तिक कह देते है। दूसरा जो किसी अनदेखी शक्ति जिससे वह प्रत्यक्ष न हुआ हो उसपर विश्वास नही करता। वह दृश्य जगत को ही प्रत्यक्ष और सत्य मान, स्वयं पर विश्वास कर आगे बढ़ता है । हम उसे नास्तिक कह देते हैं। पर इस नास्तिक का उस हठधर्मी से कोई मोल नही जो सब कुछ जान कर भी सिर्फ अपने हठ हेतु ईश्वर या ऐसी किसी शक्ति को नकारता है। वह…
    Written on Sunday, 19 June 2016 18:02

Previous Articles